कर्मचारियों के लिए मकानों की होनी है लॉटरी मगर उसमें कहां से आए रिटायर कर्मचारियों के नाम

एनटी न्‍यूज, लखनऊः नगर निगम लखनऊ में दो रिक्‍त मकानों के लिए 133 कर्मचारियों के बीच आवंटन की लॉटरी मंगलवार को होनी है. मगर इसमें बड़ी गड़बड़ी सामने आ रही है. जिन कर्मचारियों की लॉटरी के लिए सूची बनाई गई है, उसमें दो रिटायर हुए कर्मचारियों के भी नाम दर्ज बताए जा रहे हैं. जिससे कर्मचारियों को डर है कि वर्तमान की जगह पूर्व कर्मचारियों को ही आवंटन न कर दिया जाए. इस बात की शिकायत नगर निगम कर्मचारी संघ की ओर से आला अधिकारियों को कर के सूची में बदलाव करने की मांग की गई है.

पढ़ें Video: रिश्‍वत लेते हुए अधिकारी बोला, देखिये आप कंजूसी मत कीजिये

23 मार्च को नगर निगम में आवंटन के लिए लॉटरी होनी है.

न केवल पूर्व कर्मचारी शामिल हैं बल्‍कि वर्तमान कर्मचारियों में से कई के पदनाम गलत हैं.  आवास राजेश बाजपेई मोती नगर में और जिया खलील चौपड़ अस्‍पताल के खाली करने के बाद रिक्‍त हुए हैं. जिनमें रेंट विभाग में चुने हुए दो आवासों के लिए 133 दावेदार हैं. एक मकान चौपड़ अस्‍पताल परिसर में है और दूसरा मोतीनगर में है. नगर निगम कर्मचारी संघ के अध्‍यक्ष आनंद वर्मा की शिकायत है कि लॉटरी के लिए आवेदकों की सूची में दो बड़ी गड़बड़ी हैं. पहली बात तो ये कि 133 में से दो कर्मचारी रिटायर हैं और कुछ के पदनाम गलत दर्ज हैं, इसलिए हर हाल में इन कमियों को दूर करने के बाद ही लॉटरी की जाए.

सिटी मांटेसरी स्‍कूल की इस शाखा के हजारों बच्‍चों पर कोविड संक्रमण का खतरा

अनेक बाहरी और रिटायर लोग जमा हैं नगर निगम के आवासों में

आनंद वर्मा का आरोप है कि नगर निगम के कर्मचारियों के लिए जो आवास बने हैं, उनमें अनेक रिटायर कर्मचारियों का कब्‍जा नहीं खाली करवाया गया है. कई जगह तो बाहरी लोगों का भी नगर निगम के आवासों पर कब्‍जा है. उन्‍होंने बताया कि चौपड़ अस्‍पताल में विजय लक्ष्‍मी, सुरेश शर्मा के अलावा चारबाग चुंगी के आवास में अमरजीत सिंह और देवेंद्र सिंह अब तक कायम हैं.

Be the first to comment on "कर्मचारियों के लिए मकानों की होनी है लॉटरी मगर उसमें कहां से आए रिटायर कर्मचारियों के नाम"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*